ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

PM Mudra Loan 2022: ऐसे आवेदन करें तुरंत मिलेगा प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का लाभ

Pradhan Mantri Mudra Loan 2022:- ऐसे व्यक्ति जो अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं लेकिन उनके पास पर्याप्त मात्रा में पैसा ना होने के कारण मैं अपना स्वयंरोजगार शुरू नहीं कर पाते हैं उन सभी के लिए हम यहां पर पीएम मुद्रा लोन योजना 2022 के बारे में बताने वाले हैं। आप सभी आसानी से घर बैठे लोन लेकर अपना रोजगार स्थापित कर सकेंगे प्रधानमंत्री मुद्रा लोन लेना काफी ज्यादा आसान है और यह आसानी से आपको मिल जाएगा। पीएम मोदी मुद्रा लोन योजना के बारे में पूरी जानकारी हम इस आर्टिकल में देने जा रहे हैं। हमारे इस आर्टिकल के साथ आप शुरू से लेकर अंत तक पढ़ीए और पूरा समझ में आ जाएगा। mudra loan eligibility check, mudra loan documents, mudra loan interest rate, mudra loan online apply

What's in this post?

join telegram channel

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Pradhan Mantri Mudra Yojana

आपको बता दे की केंद्र सरकार द्वारा मुद्रा लोन के लिए 3 लाख करोड़ रूपये का बजट तैयार किया गया था जिसमे से अब तक 1 .75 लाख करोड़ रूपये के लोन बाटे जा चुके है | Mudra Yojana 2022 के तहत जो लोग लोन लेना चाहते है उनको लोन लेने के लिए कोई प्रोसेसिंग का भी कोई चार्ज भी नहीं(No processing charges) देना होगा | इस योजना के तहत लोन चुकाने की अवधि 5 साल बढ़ा दी गयी है | देश के लोगो को इस प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2022 के अंतर्गत मुद्रा लोन लेने के लिए एक मुद्रा कार्ड दिया जाता है।

योजना के तहत 54 लाख प्राप्तकर्ताओं को दिया गया ऋण

प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना के माध्यम से 54 लाख कर्जदारों को लगभग 36578 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत किया गया है। जिसमें से 35598 करोड़ रुपये कर्जदारों के तीन वर्गीकरणों में से हर एक को दिए गए हैं। बैंक द्वारा 44126 करोड़ का समर्थन किया गया था। जिसमें से 38668 करोड़ रुपये बांटे गए। इस योजना की शुरुआत से लेकर लंबे समय में 353 मिलियन प्राप्तकर्ताओं को 19.22 ट्रिलियन क्रेडिट की राशि का समर्थन किया गया है।

जिसके माध्यम से बैंक और गैर-बैंकिंग मौद्रिक संगठन, उत्पादन, विनिमय, प्रशासन और संबंधित गतिविधियों को क्रेडिट दिया जाता है। यह क्रेडिट 10 लाख रुपये की सीमा पर निर्भर है।

स्वीकृत 19.22 ट्रिलियन रुपये में से 8 ट्रिलियन रुपये शिशु क्रेडिट के तहत 302.5 मिलियन प्राप्तकर्ताओं को दिए गए थे। किशोर क्रेडिट के तहत 6.67 ट्रिलियन 44 मिलियन प्राप्तकर्ता और तरुण अग्रिम के तहत 7 मिलियन प्राप्तकर्ताओं को 4.51 ट्रिलियन रुपये दिए गए। वित्तीय वर्ष 2021-22 में इस योजना के तहत 53.7 मिलियन प्राप्तकर्ताओं को 3.39 ट्रिलियन रुपये दिए गए। हालांकि वर्ष 2020-21 में 50.7 करोड़ प्राप्तकर्ताओं को 3.21 लाख करोड़ रुपये दिए गए।

Key Point Of Pradhan Mantri Mudra Loan Yojana

योजना का नाम प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 
इनके द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
लाभार्थी देश के लोग
उद्देश्य लोन प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइट https://www.mudra.org.in/

योजना के तहत महिला प्राप्तकर्ताओं की संख्या 68%

प्रधान मंत्री मुद्रा ऋण योजना के माध्यम से 33 करोड़ क्रेडिट दिए गए हैं। जिसमें से 68% प्राप्तकर्ता महिलाएं हैं। ये महिलाएं एससी, एसटी और अल्पसंख्यक स्थानीय क्षेत्र की हैं। यह जानकारी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 30 मार्च 2022 को राज्यसभा में दी थी। इस योजना की शुरुआत निजी उद्यम को आर्थिक मदद देने के लक्ष्य से की गई थी। इस योजना का लाभ देश का कोई भी निवासी प्राप्त कर सकता है। केंद्र सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जिसके लिए लोक प्राधिकरण अलग-अलग योजनाएं चला रहा है। प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना के तहत सबसे ज्यादा कर्ज महिलाओं को दिया गया है। यह योजना अंतत: देश के निवासियों के मामले को आगे बढ़ाने में व्यवहार्य साबित होगी। इसके अलावा इस योजना के तहत देशवासियों की जीवन शैली भी काम करेगी।

योजना के तहत 3 लाख करोड़ रुपये का वार्षिक लक्ष्य

पीएम मुद्रा ऋण योजना के माध्यम से महिलाओं सहित छोटे छोटे व्यवसायियों को आंशिक ऋण देने वाले प्रतिष्ठानों के माध्यम से 10 लाख रुपये तक की अग्रिम राशि दी जाती है। इस लक्ष्य के साथ कि वे असेंबलिंग, एक्सचेंजिंग, खेती आदि से जुड़े अभ्यासों के माध्यम से आ सकें और बना सकें। यह जानकारी केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री डॉ भागवत किसानराव कराड ने दी। प्रधान मंत्री मुद्रा ऋण योजना के तहत सार्वजनिक प्राधिकरण द्वारा अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और सूक्ष्म वित्त संस्थानों को एक वार्षिक उद्देश्य नामित किया गया है। चालू वर्ष के दौरान यह लक्ष्य 3 लाख करोड़ रुपये रखा गया है।

इस योजना के तहत लोक प्राधिकरण द्वारा राज्य और केंद्र शासित प्रदेश वार और अभिविन्यास वार लक्ष्य आवंटित नहीं किए जाते हैं। इस योजना के तहत विभिन्न सीमाओं का मूल्यांकन करके क्रेडिट दिया जाता है। प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना के क्रियान्वयन से संबंधित किसी भी आपत्ति की स्थिति में संबंधित बैंक के साथ संयुक्त प्रयास में शिकायत की समीक्षा की जाती है। साथ के अनुमानों को योजना के क्रियान्वयन पर काम करने के लिए शामिल किया जाएगा।

join telegram channel

अग्रिम आवेदन आवास के साथ काम करने के लिए सहायता।

  • psbloansin59minutes और उद्यमी मित्र प्रविष्टि के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था।
  • भागीदारों के बीच योजना के साथ परिचितता का विस्तार करने के लिए क्लाइंट एक्सपोजर मिशन।
  • उपयोग संरचनाओं में सुधार।
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में मुद्रा नोडल अधिकारी का कार्यभार।
  • पीएमएमवाई के संबंध में पीएसबी के निष्पादन की समसामयिक जाँच।
मेरठ क्षेत्र में 20619 ऋण दिए गए हैं।

मुद्रा ऋण योजना के तहत, उत्तर प्रदेश के मेरठ क्षेत्र में 20619 प्राप्तकर्ताओं के लिए 119.04 करोड़ रुपये के क्रेडिट का समर्थन किया गया था। यह जानकारी क्षेत्र के मुख्य विकास अधिकारी शशांक चौधरी ने दी है. इसके अलावा विकास भवन हॉल में बैंक के स्थानीय स्तर के बोर्ड की बैठक का आयोजन किया गया। इस सभा में सीडीओ शशांक चौधरी ने सभी बैंक प्रतिनिधियों को सरकारी योजनाओं में भाग लेने के लिए कहा है. स्थानीय मेरठ में अग्रिम स्टोर का अनुपात 56.54% है जो कि 60% होना चाहिए। बैंकों को भी क्रेडिट स्टोर का अनुपात कम से कम 60% रखने के लिए दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

इसके अलावा, वित्तीय वर्ष 2021-22 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 सितंबर 2021 तक की अवधि के दौरान 20619 प्राप्तकर्ताओं को 119.04 करोड़ रुपये के क्रेडिट का समर्थन किया गया है। इनमें से 43.17 करोड़ रुपये के शिशु क्रेडिट 17309 को दिए गए थे। प्राप्तकर्ता। 2847 प्राप्तकर्ताओं को किशोर अग्रिम दिए गए, जिसमें 39.36 करोड़ रुपये तक और तरुण ने 463 प्राप्तकर्ताओं को 36.50 करोड़ रुपये तक के क्रेडिट दिए।

लीड बैंक प्रबंधक संजय कुमार ने बताया कि वार्षिक अग्रिम आयोजक लोकेल में 13859.42 करोड़ रुपये की वार्षिक ऋण योजना के मुकाबले वर्ष 2021-22 जून तिमाही के दौरान 2300.38 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया है। यह क्रेडिट भुगतान साजिश के उद्देश्य का 17% है।

वर्ष 2021-22 की जून तिमाही के दौरान मेरठ क्षेत्र की 4700.12 करोड़ रुपये की वार्षिक ऋण योजना के मुकाबले 471.50 करोड़ रुपये का ऋण दिया गया है। यह योजना के उद्देश्य के 10% की पूर्ति है। सभी बैंक एजेंटों को उनके विशेष वार्षिक ऋण योजना लक्ष्यों को पूरा करने के लिए दिशानिर्देश दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना 6 वर्ष

व्यवसाय को आश्वासन दिए बिना अग्रिम देने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत तीन प्रकार के क्रेडिट दिए जाते हैं जो शिशु मुद्रा ऋण, किशोर मुद्रा ऋण और तरुण मुद्रा ऋण हैं। शिशु मुद्रा लोन के तहत ₹50000 तक का क्रेडिट दिया जाता है। किशोर मुद्रा लोन के तहत ₹50000 से ₹500000 तक के एडवांस दिए जाते हैं और तरुण मुद्रा लोन के तहत ₹500000 से ₹मिलियन तक के मुद्रा क्रेडिट दिए जाते हैं। योजना आठ अप्रैल 2015 को बंद कर दी गई थी। इस योजना के तहत कोई उचित ऋण शुल्क नहीं है। प्रधान मंत्री मुद्रा ऋण योजना के तहत विभिन्न बैंकों द्वारा विभिन्न वित्तपोषण लागतों का शुल्क लिया जाता है।

अब तक पिछले 6 वर्षों में प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के माध्यम से 28.68 लाभार्थियों को 14.96 लाख करोड़ रुपए का लोन मुहैया करवाया जा चुका है। 2015 से लेकर 2018 के बीच इस योजना के माध्यम से लगभग 1.12 करोड़ अतिरिक्त रोजगार पैदा हुए हैं।

इस योजना के माध्यम से छोटे व्यवसाय को प्रोत्साहन मिला है। सन 2020–21 में सरकार द्वारा 4.20 करोड़ लाभार्थियों को कर्ज मुहैया कराया गया। 19 मार्च 2021 तक वित्त वर्ष 2020–21 के लिए लाभार्थियों को 2.66 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए गए है।
प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के अंतर्गत लगभग 88% शिशु लोन मुहैया कराए गए। 24% नए उद्यमियों को लोन मुहैया कराए गए। 68% लोन महिलाओं को उपलब्ध करवाए गए एवं 51% लोन अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़े वर्ग के नागरिकों को उपलब्ध करवाए गए। इसके अलावा लगभग 11% लोन अल्पसंख्यक समुदाय के नागरिकों को प्रदान किए गए।

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Mudra Loan Yojana कमर्शियल वाहन खरीद

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना देश के नागरिकों को अपना व्यवसाय स्थापित करने के लिए लोन मुहैया करवाने के लिए आरंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत अब तक कई लोगों ने लाभ उठाया है। यदि आप भी प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको बैंक में अप्लाई करना होगा। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा ₹1000000 तक का लोन मुहैया करवाया जाता है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा कमर्शियल वाहन खरीदने के लिए भी लोन प्रदान किया जाता है। इस योजना के माध्यम से ट्रैक्टर, ऑटो रिक्शा, टैक्सी, ट्रॉली, माल परिवहन वाहन, तीन पहिया वाहन, ई-रिक्शा आदि खरीदने के लिए लोन लिया जा सकता है।

Mudra Loan Yojana के माध्यम से कृषि व पशुपालन को के लिए, व्यापारियों के लिए, दुकानदारों के लिए तथा सर्विस सेक्टर के लिए भी लोन प्रदान किया जाता है। लोन की राशि प्रदान करने के लिए लाभार्थियों को मुद्रा कार्ड प्रदान किया जाता है। यह लोन पूरी तरह से बिना गारंटी के मिलता है और इसकी अवधि 5 साल तक बढ़ाई जा सकती है।

मुद्रा लोन योजना 91% लोन अब तक किए गए वितरित

इस योजना के अंतर्गत वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तीन तिमाही में 91% लाभार्थियों को लोन की राशि को वितरित कर दी गई है। Mudra Loan Yojana के अंतर्गत कुल 2.68 करोड़ लाभार्थियों को मंजूरी मिली है जिसके अंतर्गत Rs 1,62195.99 करोड़ रुपए लाभार्थियों को प्रदान किए जाएंगे। इस राशि में से 8 जनवरी 2021 तक Rs 1,48,388.08 लाभार्थियों को प्रदान कर दिए गए हैं। बैंकों, गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों, माइक्रो फाइनेंस संस्थानों आदि के माध्यम से वित्तीय वर्ष 2020 एवं वित्तीय वर्ष 2019 में 97.6% तथा 97% लोन वितरित किए गए हैं। जिसमें लगभग Rs 329684.63 करोड़ तथा Rs 311811.38 करोड़ की राशि लाभार्थियों के खाते में पहुंचाई गई है।

.मुद्रा ऋण योजना के तहत, नवंबर 2020 तक 1.54 अग्रिमों का समर्थन किया गया था, जिसके तहत 98,916.65 करोड़ रुपये का एक उपाय प्राप्तकर्ताओं के रिकॉर्ड में स्थानांतरित किया जाना था। 13 नवंबर 2020 तक, प्राप्तकर्ताओं के रिकॉर्ड में 91936.62 करोड़ रुपये का एक उपाय किया गया था।


.मुद्रा क्रेडिट षडयंत्र के तहत ₹ 50000 से ₹ ​​एक मिलियन तक के अग्रिम दिए जाते हैं। शिशु कवर के तहत ₹ 50000 तक का एडवांस दिया जाता है। किशोर कवर के तहत ₹500000 तक का एडवांस दिया जाता है और तरुण का क्लास के तहत ₹ एक मिलियन तक का क्रेडिट दिया जाता है।


31 जनवरी, 2020 तक लगभग 22.53 करोड़ लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है, जिसमें से 15.75 करोड़ क्रेडिट महिलाओं को दिए गए हैं। यह संख्या कुल प्राप्तकर्ताओं का 70% है। सार्वजनिक प्राधिकरण द्वारा MSMEs को क्राउन कॉल से बाहर निकलने में मदद करने के लिए 80 लाख क्रेडिट दिए जाएंगे। जिसमें 2.05 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस 2.05 लाख करोड़ रुपये में से आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना के तहत 4 दिसंबर 2020 तक 1.58 लाख करोड़ रुपये का क्रेडिट दिया गया है।

प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना 2022 के उद्देशय

इस योजना का प्राथमिक लक्ष्य यह है कि देश के बहुत से ऐसे लोग हैं जो व्यवसाय में जाना चाहते हैं लेकिन पैसे की कमी के कारण इसे शुरू नहीं कर सकते हैं, ऐसे व्यक्तियों के लिए, केंद्र सरकार ने इस योजना को शुरू किया है प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना लाभार्थी 2022 के तहत मुद्रा अग्रिम लेकर अपनी निजी कंपनी शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा, इस योजना के तहत, असाधारण सरल तरीके से व्यक्तियों को क्रेडिट देना। प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना 2022 के माध्यम से राष्ट्र के व्यक्तियों की कल्पनाओं को समझना और उन्हें स्वतंत्र और सक्षम बनाना।

शिशु श्रेणी के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों को 2% ब्याज की सहायता

पिछले वर्ष कोरोनावायरस के महामारी के कारण लॉकडाउन लगाया गया था। इसी कारण हमारे देश की अर्थव्यवस्था का दोबारा से बल की सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान का आरंभ किया गया था। लॉक डॉन लगने के वजह से हमारे देश के अर्थव्यवस्था चौपट हो गई थी। इसी सब को देखते हुए हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान चलाया गया था। इस अभियान के अंतर्गत प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के अंतर्गत आने वाले शिशु श्रेणी के गद्दारों को 2% ब्याज की सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया था। वह सभी कर्जदार और चीन का बकाया इस तक है और वह एनपीएस श्रेणी आते हैं उनकी ब्याज की सहायता योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। पिछले वर्ष रिजर्व बैंक की योजना के अनुसार कर्ज चुकाने में रोक की अनुमति कोरोना वायरस संक्रमण के कारण प्रदान की गई थी। इस योजना के अंतर्गत आने वाले सभी कर्जदार को रोक का अवधि पूरी होने के बाद ब्याज की सहायता योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा वह लाभ 12 माह के लिए प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के प्रकार

इस योजना के तहत तीन तरह के लोन दिए जाते है |

शिशु लोन:- इस प्रकार के मुद्रा योजना के अंतर्गत ₹50000 तक का लोन लाभार्थियों को आवंटित किया जाएगा।
किशोर लोन: इस प्रकार के मुद्रा योजना के अंतर्गत ₹50000 से लेकर ₹500000 तक का लोन लाभार्थियों का आवंटित किया जाएगा।
तरुण लोन: इस प्रकार की मुद्रा योजना के अंतर्गत ₹500000 से लेकर ₹1000000 तक का लोन लाभार्थियों को आवंटित किया जाएगा।

मुद्रा योजना के अंतर्गत आने वाले बैंक

  • इलाहाबाद बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • कॉरपोरेशन बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • j&k बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • सिंडिकेट बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • आंध्र बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • देना बैंक
  • आईडीबीआई बैंक
  • कर्नाटक बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • तमिल नाडु मरसेटाइल बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • केनरा बैंक
  • फेडरल बैंक
  • इंडियन बैंक
  • कोटक महिंद्रा बैंक
  • सरस्वत बैंक
  • यूको बैंक
  • बैंक ऑफ़ बरोदा
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • एचडीएफसी बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया

मुद्रा कार्ड

मुद्रा लोन लेने वाले सभी लाभार्थियों को मुद्रा कार्ड होना जरूरी है लोन लेने वाले लाभार्थियों के यह मुद्रा कार्ड डेबिट कार्ड के तरह उपयोग कर सकते हैं। इसमें जरूरत के हिसाब से पैसा निकाल सकते हैं और इसमें एटीएम की तरह पैसा निकाल सकते हैं। इस मुद्रा कार्ड के साथ आपको एक पासपोर्ट प्रदान की इससे आपको गोपनीय रखना होगा और आप इस कार्य का उपयोग अपने व्यापारी संबंधित करने के लिए कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2022 में आवेदन कैसे करें?

इस योजना के अंतर्गत जो इच्छुक लाभार्थी लोन के लिए आवेदन करना चाहते हैं वह आप अपने नजदीकी सरकारी, बैंक या निजी बैंक या ग्रामीण बैंकआदि ने अपने सभी दस्तावेजों के साथ जा कर सकते हैं।

  • इसके बाद जिस बैंक से आप लोन लेना चाहते हैं वहां जाकर एप्लीकेशन फॉर्म लेकर भर दे।
  • फार्म भरने के बाद आप अपना सभी दस्तावेज अटैच करके बैंक के अधिकारी के पास जमा कर दें।
  • फिर आपके सभी दस्तावेजों को सत्यापित कर बैंक द्वारा आपको 1 महीने के अंदर लोन दे दिया जाएगा।

FAQ PM MODI MUDRA LOAN APPLY?

Q.1 प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना क्या है?

  • Ans: सरकार स्वतंत्र कंपनी शुरू करने के लिए निवासियों को मुद्रा क्रेडिट दे रही है।

Q.2 मुद्रा अग्रिम कैसे दिया जाता है?

  • Ans: मुद्रा अग्रिम ग्राहकों के लिए व्यावहारिक रूप से बिना किसी शर्त के प्रभावी रूप से सुलभ है।

Q.3 मुद्रा क्रेडिट प्राप्त करने में कितना समय लगता है?

  • Ans: मुद्रा अग्रिम पुराने क्रेडिट की तुलना में जल्दी दिया जाता है जो पहले बैंक से दिए जाते हैं।

Q.4 मुद्रा अग्रिम योजना पर कितना ब्याज लगता है?

  • Ans: मुद्रा अग्रिम योजना राजस्व के बारे में डेटा के लिए आपको बैंक से संपर्क करना चाहिए। Mudra Loan
If you want to ask me something then you can reach me through comment or via instagram

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट jammuuniversity.in के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Sanjit Gupta

Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information
Google News Join Now ↗️Click Here
Facebook Page ↗️Click Here
Instagram ↗️Click Here
Telegram Channel Sarkari Yojana ↗️Click Here
Twitter ↗️Click Here
Website  ↗️Click Here

jansunwai up

Who is eligible for MUDRA loan?

Any Indian Citizen who has a business plan for a non-farm income generating activity such as manufacturing, processing, trading or service sector whose credit need is up to 10 lakh can approach either a Bank, MFI or NBFC for availing of MUDRA loans under PMMY

What is the interest of 50000 in MUDRA loan?

Kishore Mudra Yojana

50,000 to Rs. 5 lakh at the Mudra interest rate decided by the lending institution in question. In Kishore Mudra Yojana, the interest rate may range from 8.60% to 11.15% or more and is based on the scheme’s guidelines and your credit history

What is MUDRA loan limit?

Pradhan Mantri MUDRA Yojana (PMMY)

Shishu : covering loans upto 50,000/- Kishor : covering loans above 50,000/- and upto 5 lakh. Tarun : covering loans above 5 lakh and upto 10 lakh

Leave a Comment