ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

व्हाट्सएप पर फर्जी खबर: कोरोना सहायता योजना के तहत 1000 रुपये दे रही है?

प्रेस सूचना ब्यूरो की फैक्ट चेक यूनिट ने आज एक ट्वीट में स्पष्ट किया है कि भारत सरकार तथाकथित कोरोना सहायता योजना योजना के तहत किसी को भी 1000 रुपये नहीं दे रही है। यह ट्वीट व्हाट्सएप पर एक व्यापक रूप से प्रसारित संदेश के जवाब में था, जिसमें दावा किया गया था कि सरकार ने एक योजना-डब्ल्यूसीएचओ शुरू की थी, जिसके तहत लोगों को प्रत्येक को 1000 रुपये दिए जा रहे थे। संदेश में लोगों को एक लिंक पर क्लिक करने और अपनी जानकारी प्रदान करने की आवश्यकता होती है। Corona Sahayata Yojana | corona sahayata 2022 | scholarship yojana 2022 | pm sahayata yojana 2022 | kisan sahayata yojana 2022

join telegram channel

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

ट्वीट ने स्पष्ट किया कि दावा और लिंक दोनों ही फर्जी थे और लोगों को इस पर क्लिक करने के खिलाफ चेतावनी दी।

सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों के प्रसार को रोकने और सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणियों का पालन करने के लिए, पीआईबी ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही अफवाहों का भंडाफोड़ करने के लिए एक समर्पित इकाई की स्थापना की। ‘PIBFactCheck’ ट्विटर पर एक सत्यापित हैंडल है जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ट्रेंडिंग संदेशों पर लगातार नजर रखता है और फर्जी खबरों का भंडाफोड़ करने के लिए इसकी सामग्री की व्यापक समीक्षा करता है। इसके अलावा, ट्विटर पर पीआईबी_इंडिया हैंडल और विभिन्न पीआईबी क्षेत्रीय इकाई हैंडल ट्विटर पर किसी भी आइटम के आधिकारिक और प्रामाणिक संस्करण को ट्विटर समुदाय के लाभ के लिए हैशटैग #PIBFactCheck का उपयोग करके पोस्ट कर रहे हैं। Corona Sahayata Yojana | corona sahayata 2022 | scholarship yojana 2022 | pm sahayata yojana 2022 | kisan sahayata yojana 2022

Bihar Corona Sahayat App- An Overview

Name of the App   Bihar Corona Sahayata
State   Bihar
Application Type Mobile Application
Date of Release 5th April 2022
Concerned Department Disaster Management Department, Government of Bihar
Beneficiary People trapped outside Bihar
Assistance Provided Rs.1000/-
Disaster Management Dept. Website http://aapda.bih.nic.in/

कोई भी व्यक्ति टेक्स्ट, ऑडियो और वीडियो सहित किसी भी सोशल मीडिया संदेश की प्रामाणिकता के सत्यापन के लिए PIBFactCheck पर सबमिट कर सकता है। इन्हें पोर्टल https://factcheck.pib.gov.in/ या व्हाट्सएप नंबर +918799711259 या ईमेल: [ईमेल संरक्षित] पर ऑनलाइन जमा किया जा सकता है। विवरण पीआईबी की वेबसाइट: https://pib.gov.in . पर भी उपलब्ध हैं | Corona Sahayata Yojana | corona sahayata 2022 | scholarship yojana 2022 | pm sahayata yojana 2022 | kisan sahayata yojana 2022

PIB फैक्ट चेक का कहना है कि कोरोनोवायरस संकट के बीच सरकार लोगों को 1000 रुपये नहीं दे रही है

यदि आप ऐसे पोस्ट या व्हाट्सएप फॉरवर्ड पर आते हैं जो दावा करते हैं कि सरकार कोरोना संकट के दौरान शुरू की गई एक योजना के तहत लोगों को 1000 रुपये प्रदान कर रही है, तो सावधान रहें – यह नकली है। साथ ही मैसेज के साथ दिया गया लिंक और फॉर्म फर्जी है। पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर इस फर्जी खबर को खारिज किया।

join telegram channel

हिंदी से अनूदित एजेंसी के ट्वीट में लिखा है कि दावा है कि सरकार सभी को 1000 रुपये दे रही है और इसे प्राप्त करने के लिए एक लिंक पर क्लिक करके एक फॉर्म भरना होगा। यह तब स्पष्ट करता है कि दावा झूठा है क्योंकि सरकार ने ऐसी कोई योजना शुरू नहीं की है। साथ ही, फॉर्म के लिए दिया गया लिंक फर्जी है, पोस्ट में आगे कहा गया है।

नोट: ध्यान दें – अगर आप तक यह जानकारी पहुंच चुका है तो अपने दोस्तों में भी यह जानकारी पहुंचा है शेयर वाले बटन पर क्लिक कर व्हाट्सएप फेसबुक इंस्टाग्राम पर फैला दें ताकि कोई व्यक्ति अपना डिटेल ना दें और ना ही आने वाले मुसीबत का सामना करें। अगर आपऐसे कोई वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर कर देते हैं तो आने वाले टाइम में आपसे बैंक खाली भी कराया जा सकता है इसीलिए अपने दोस्तों में इस आर्टिकल को शेयर करें और कमेंट कर बताएं क्या आपके साथ भी ऐसा कुछ हुआ है या नहीं।

corona sahayata 2021,scholarship yojana 2021

0 thoughts on “व्हाट्सएप पर फर्जी खबर: कोरोना सहायता योजना के तहत 1000 रुपये दे रही है?”

Leave a Comment