Advertisements
WhatsApp Channel (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Ladli Laxmi Yojana: सरकार हर बेटी को देगी ₹51000 रुपया, यहाँ से करें ऑनलाइन आवेदन जानें पूरी जानकारी

By SANJEET KUMAR

Updated on:

Advertisements

Ladli Laxmi Yojana: भारत में बढ़ते कन्या भ्रूण के मामलों को नियंत्रित करने के लिए सरकारों ने कई उपाय किए हैं. मध्य प्रदेश सरकार ने बेटियों को बचाने और कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, सरकार लड़कियों की जन्म शिक्षा और स्वास्थ्य पर खर्च करती है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के समाज में फैली हुई नकारात्मकता को दूर करना है और बेटियों को सकारात्मक सोच देना है। 2007 में मध्य प्रदेश में लाडली लक्ष्मी योजना शुरू की गई थी।

Advertisements

मध्य प्रदेश सहित उत्तर प्रदेश, दिल्ली, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा और झारखंड में भी यह योजना लागू की गई है। 1 जनवरी 2006 के बाद जन्मे बच्चों को इस योजना में शामिल किया गया है। यह योजना गरीब परिवारों और महिलाओं को आर्थिक सहायता देने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के तहत पंजीकृत सभी लड़कियों के शैक्षणिक और चिकित्सा खर्चों का भुगतान राज्य करता है।

यदि आप भी लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए है क्योंकि इसमें लाडली लक्ष्मी योजना के बारे में पूरी जानकारी दी गई है, साथ ही आवेदन करने के लिए आवश्यक जानकारी भी दी गई है। यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक पढ़ते रहिए।

Advertisements

Ladli Laxmi Yojana Online Apply

Ladli Laxmi Yojana

Ladli Laxmi Yojana: इस योजना में 2006 के बाद जन्मे सभी बच्चे शामिल हैं। इन बच्चों को जन्म पर छह हजार रुपए की पांच किस्त दी जाती है, अर्थात जन्म के बाद पांच साल तक तीस हजार रुपए की राशि दी जाती है. इसके अलावा, बच्चों को स्कूल में पदोन्नत होने पर, जैसे कि कक्षा 6 में ₹2000, कक्षा 9 में ₹4000, कक्षा 11 में ₹6000 और कक्षा 12 में भी ₹6000 दी जाती है। यदि लड़की की शादी 18 वर्ष से पहले नहीं की जाती है, तो उसे 21 वर्ष की आयु तक ₹100000 की राशि दी जाती है, साथ ही लड़की को 12वीं क्लास के बाद ₹400 प्रतिमाह की राशि दी जाती है।

इस कार्यक्रम के लिए सरकार ने कुछ नियम भी बनाए हैं, जिनका पालन करने वाली लड़कियों को ही इसका लाभ मिलेगा। इस योजना में गरीब और रेखा से नीचे की सभी लड़कियों को शामिल किया गया है इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा यदि कोई लड़की अपनी पढ़ाई को बीच में छोड़ देती है और ₹100,000 की राशि तभी मिलती है जब लड़की की शादी 18 वर्ष तक नहीं होती है। इस योजना का लाभ भी अनाथ बालिकाओं को मिलता है, लेकिन उन्हें इसका लाभ सिर्फ तब मिलेगा जब उन्हें कोई गोद ले लेगा।

लाडली लक्ष्मी योजना में भाग लेने के लिए आवेदन कैसे करें?

Ladli Laxmi Yojana: अगर आप सभी शर्तों को पूरा करते हैं, तो आप भी लाडली लक्ष्मी कार्यक्रम में अपनी बालिका का आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रियाओं का पालन करना होगा:

  • यह करने के लिए आपको पहले लाड़ली लक्ष्मी योजना की सरकारी वेबसाइट https://ladlilaxmi.mp.gov.in/ पर जाना होगा।
  • इस वेबसाइट पर जाने के बाद, मुख्य पृष्ठ पर एप्लीकेशन लेटर का विकल्प मिलेगा. इस पर क्लिक करें।
  • तीन विकल्प (जनरल पब्लिक सर्विस मैनेजमेंट, पब्लिक एंड प्रोजेक्ट ऑफिसर) दिखाई देंगे जब आप क्लिक करेंगे। जनरल पब्लिक से एक चुनना होगा।
  • इसके बाद, एक फार्म खुल जाएगा. इसे ठीक से पढ़कर भरें, फिर आवश्यक सभी दस्तावेजों की स्कैनिंग करके अपलोड करने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  • आप लाडली लक्ष्मी योजना के लिए इस तरह आवेदन कर सकते हैं |

Ladli Laxmi Yojana:आप भी अपनी बच्ची को लाड़ली लक्ष्मी योजना में पंजीकृत कर सकते हैं। इस योजना में शादी के लिए ₹100,000 भी मिलता है। बालिका का विवाह 18 वर्ष की आयु तक नहीं हुआ तो 21 वर्ष की आयु में दी जाती है। इस योजना का फायदा नहीं होगा अगर बालिका किसी कारण से बीच में छोड़ देती है। एक परिवार में दो बालिकाएं होने पर परिवार नियोजन योजना का भी लाभ मिलता है।

हम आशा करते हैं कि आप इस लेख में बताई गई सभी जानकारी को महत्वपूर्ण पाया है, इसलिए कृपया इसे अपने अन्य दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी शेयर करें ताकि वे भी इस योजना का लाभ ले सकें और अपनी बालिका को किसी भी प्रकार का बोझ न बनाएं।

FAQ’s Ladli Laxmi Yojana

Ladli Laxmi योजना 2.0 कब शुरू हुई?

2006 से शुरू हुई इस योजना का लक्ष्य है कि लड़कियों की शैक्षिक और आर्थिक स्थिति में सुधार के माध्यम से लड़कियों के भविष्य को मजबूत बनाए रखना और लड़कियों के जन्म के प्रति सामाजिक दृष्टिकोण में सकारात्मक बदलाव लाना।

लाडली योजना का पात्र कौन है?

माता-पिता मध्यप्रदेश से आते हैं। माता-पिता आयकर का भुगतान नहीं करते हैं। माता-पिता के पास दो या दो से कम संतान होने पर परिवार नियोजन अपनाया गया हो। पहली बार जन्मी बालिका को परिवार नियोजन का कोई लाभ नहीं मिलेगा।

Sanjeet Kumar is a graduate of Journalism, Psychology, and English. Passionate about communication - with words spoken and unspoken, written and unwritten - he looks forward to learning and growing at every opportunity. Pursuing a Post-graduate Diploma in Translation Studies, he aims to do his part in saving the 'lost…

Leave a Comment